भंडारा, चंद्रपुर और गढ़चिरोली जिले में 13 लोगों की जान लेने वाले सिटी 1 बाघ को बंदी बनाने में वन विभाग सफल

0
535

चंद्रपूर : (मोहम्मद सुलेमान बेग)
पिछले दो महीनो से भंडारा, चंद्रपुर और गढ़चिरोली जिले में सीटी 1 बाघ का कहर बरस रहा था । इस बाघ ने तीन जिलों में वडसा वनविभाग में 6, भंडारा वनविभाग में 4, ब्रह्मपुरी वनविभाग में 3 ऐसे कुल 13 लोगों की जाने ली है।
ताडोबा अंधारी टाइगर रिजर्व के क्षेत्र निदेशक डॉ. जितेंद्र रामगांवकर को समन्वयक की जिम्मेदारी देकर प्रयास शुरू किया गया।


लगातार बारिश और घने इलाके में होने के कारण वनविभाग बाघ को पकड़ने में नाकाम रहे।  लेकिन आज 13 अक्टूबर 2022 की सुबह वडसा के एकलपुर में सिटी 1 बाघ ने मारे गए शिकार के पास पहुंचा तो बंकर पिंजरे में तैनात डॉ. आर.  एस. खोबरागड़े पशु चिकित्सा अधिकारी (वन्यजीव) और आर.आर. टी.  प्रमुख एस. सी. मराठे पुलिस नाइक (शार्पशूटर), राकेश आहूजा बायोलॉजिस्ट और टीम के अन्य सदस्यों ने बंदूक से डॉट मार बेहोश किया गया।
चूंकि इस बाघ ने लगातार दो दिनों में आरमोरी तालसील में दो लोगों को मार गिराया, लोगों में दहशत का माहौल था और वे लगातार बाघ को कैद करने की मांग कर रहे थे।
सिटी 1 बाघ को पकड़ने के लिए शार्प शूटर की एक टीम दाखल हुई और सिटी 1 बाघ को पकड़ने में वडसा वनविभाग को बडी सफलता मिली।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here