ताडोबा मे दो ब्लॅकी शावक दिखाई देने से सैलानीयो मे खुशी का माहोल

0
123

ताडोबा अंधारी व्याघ्र प्रकल्प में पहली बार  ब्लॅकी को देखे जाने की सूचना 2018 में विदेशी सैलानियो को दुपहर सफारी मे कोलसा क्षेत्र के शिवनझरी वॉटर बॉडी मे मिला था। इससे पहले, ताडोबा में ब्लॅकी के देखे जाने की कोई पुष्टि नहीं हुई थी।  काला तेंदुआ (ब्लॅकी) जिसे मेलानिस्टिक तेंदुआ भी कहा जाता है, आम तेंदुए की एक दुर्लभ आनुवंशिक विविधता है, और इस ब्लॅकी के दर्शन बहुत ही दुर्लभ हैं।

हालही मे ब्लॅकी के 2 शावको को ताडोबा मे देखे जाने की पुष्टी की गई है। वैसे तो ताडोबा मे ब्लॅकी को देखना आसान नही है। ऐसे मे एक – दो माह के शावक दिखाई देने से सैलानियो मे खुशी का माहोल दिख रहा है।
मिली जानकारी के मुताबिक ताडोबा के मदनापूर गेट के क्षेत्र मे सामान्य तेंदूए साथ दो शावको  पुरी तरह से काला  रंग  विकसित हुआ ऐसे ब्लॅकी  को देखा गया है। और उसे देखने के लिए सैलानियो की भीड उमड रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here