ताडोबा में ट्रांजिट लाइन पर काम करते समय बाघिन द्वारा हमले में महिला वनरक्षक की मौत

0
1300

 

चंद्रपुर:

ताडोबा-अंधारी व्याघ्र प्रकल्प के ताडोबा कोर क्षेत्र के वाटर बॉडी पानी क्र. 97 के करीब कार्यरत महिला वनरक्षक सौ. स्वाती नानाजी ढुमने उम्र 31 वर्ष आज 20 नवम्बर 2021 रोज सुबह 8.30 के करीब बाघ के हमले में हुई मौत।

NTCA की गाइडलाइन के अनुसार हर चार साल में बाघों की गिनती की जाती है। 2022 के बाघों की गिनती का सिलसिला शुरू हो गया है। 20 से 26 नवम्बर तक जोरो से समस्त वनक्षेत्र (बीट) में ट्रांजिट लाइन बनाने का कार्य प्रारम्भ किया गया है, उसी आधार से गणना प्रक्रिया का एक चरण पूरा होता है। मानव अस्तित्व से असहज वन्यजीवों के साथ यह कार्य करना अत्यंत चुनौतीपूर्ण कार्य है।
अपनी बीट में वही कार्य करते हुए महिला वनरक्षक को एक बाघ का सामना करना पड़ा और नतीजा दुखद रहा ट्रांजिट लाइन की गणना का यह अब तक का पहला हादसा है। चूंकि घटना ताडोबा के पर्यटन के दौरान हुई थी, इसलिए वहां मौजूद जिप्सियों ने आखिरी बार महिला वनरक्षक को देखा था।


जानकारी के अनुसार ट्रांजिट लाइन की ओर जाते समय महिला वनरक्षक स्वाति आगे चल रही थी और उसके पीछे तीन वन मजदूर थे। ट्रांजिट लाइन पर चलते समय पास में मौजूद बाघिन पत्तों की आवाज के साथ धीरे-धीरे अंदर की ओर बढ़ी और महिला वनरक्षक पर हमला कर दिया।हमला होते ही पास की जिप्सियों के पर्यटकों ने वनरक्षक की चहचहाहट सुनी।
घटना की जानकारी ताडोबा प्रबंधन के आला अधिकारियों को जैसे ही लगी उन्होंने मौके पर पहुंचकर निरीक्षण किया.
शव को हिरासत में लिया और पंचनामा किया गया। वन परिक्षेत्र अधिकारी प्रादेशिक कार्यालय प्रादेशिक चिमुर में दी गई श्रद्धांजली। उसके परिवार में उनके पति और एक बेटी है।  इस घटना से ताडोबा में वनकर्मियों में दहशत का माहौल है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here