खदानों से हीरे निकालने के लिए 2 लाख पेड़ों की बलि ली जाएगी

0
182

भोपाल :

मध्य प्रदेश में छत्तीसगढ़ के बक्सवाहा वन क्षेत्र में 2 लाख पेड़ों की कटाई के विरोध में एक लाख से अधिक पर्यावरणविद सामने आए हैं. बक्सवाहा में जंगल में पेड़ों को बचाने के लिए आज सोशल मीडिया पर पर्यावरणविदों द्वारा शेव बक्सवाहा वन अभियान चलाया जा रहा है।
इस क्षेत्र में 215875 पेड़ हैं, जिनमें जांभूळ पिंपल,तेंदू, अर्जुन  आदि है और भविष्य में इन पेड़ोपर  कुल्हाड़ी चलने वाली है। इसे रोखने के लिए आंदोलन की तैयारी के लिए देश भर के 50 से अधिक संगठनों के प्रतिनिधियों ने 9 मई, 2021 को एक वेबिनार आयोजित किया।
बक्सवाहा खदान में हीरे की कीमत अरबों रुपये में बताई जा रही है। 3.42 करोड़ कैरेट हीरे  बक्सावाहा जंगल के पेट में पाए जाने की संभावना है।
देश में सबसे बड़ा हीरा भंडार मध्यप्रदेश के पन्ना जिले में माना जाता था । हालांकि बक्सवाहा में पन्ना से 15 गुना ज्यादा हिरे है। पन्ना खदान में 22 लाख कैरेट हीरे हैं, जिनमें से अब तक 13 लाख कैरेट हीरे का खनन किया जा चुका है।
दिल्ली की नेहा सिंह ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर  बक्सवाहा से हीरा निकालने के लिए 382 ​​हेक्टेयर जमीन पर के पेड़ काटने  से रोक लगाने की मांग की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here