तलोधी (बा.) वन परिक्षेत्र में बाघ-तेंदुए के हमले, मवेशियों का हो रही है कत्लेआम!

0
387

तलोधी (बा.) यश कायरकर.
तलोधी बालापुर वन परीक्षेत्र अंतर्गत आने वाले आलेवाही बीट के उमरगांव निवासी सुभाष नामदेव सोनवाने इनके घर में रात को 4:00 बजे तेंदुए ने घुसकर बकरी को मार डाला. आवाज सुनकर घरवालों ने देखा तो तेंदुआ बकरे पर हमला कर उसे मार चुका था! फिर घर वालों ने तेंदुए को घर से भगा दिया लेकिन इससे घरवालों में काफी दहशत निर्माण हो गई! और इसकी जानकारी तुरंत तलोदी वन विभाग को दी गई! जानकारी के चलते अतिरिक्त कार्यभार वाले वनरक्षक एस. बी. पेंदाम इन्होंने क्षेत्र सहायक के. डी. गरमाडे के मार्गदर्शन में पंचनामा कर बकरी को दफना दिया! इससे पहले रविवार 7 तारीख आलेवाही बीट के कंपार्टमेंट नंबर 91 में डोंगरगांव निवासी गजानन काशीराम गायतूरे इनके बैल को बाघ ने अपना निवाला बनाया! इसी सिलसिले के चलते शुक्रवार 5 तारीख को गंगासागर हेटी बिट में परिसर के वाढोणा निवासी गंगाधर कवडू ओगुवार (60) इस को आकापुर के एक खेत में तेंदुए ने हमला कर गंभीर जख्मी कर दिया था! जिसका ऊपचार चंद्रपुर जिल्हा रुग्णालय में अभी भी चल रहा है! इससे एक दिन पहले ही गंगासागर हेटी बिट के सावंगी गांव में तेंदुए ने कुत्ते को लोगों के सामने निवाला बनाया!और ऊसी रात आलेवाही बिट के वाढोणा के रामटेकडी परिसर के एक गोशाला से एक तेंदुआ बकरी लेकर भाग गया!


तालोधी बालापुर वन परिक्षेत्र अंतर्गत आने वाले आलेवाही, गंगासागर हेटी बिट में रोज मर्रा बाघ – तेंदुए के हमले बढ़ते जा रहे हैं! सिलसिला बदस्तूर बढ़ता ही जा रहा है! इन जंगली जानवरों के हमलों में परिसर के किसान, मवेशी पालक लोगों में दहशत और आक्रोश बढ़ता जा रहा है! वन परिक्षेत्र में वन रक्षकों की कमी कि वजह से ईन घटनाओं को रोकने में वन विभाग असफल साबित हो रहा है! खेत, गांव, घरों, में हो रही घटनाएं लोगों और वन विभाग के लिए चिंता का सबब बन रही है!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here