कोंडेगांव सितारामपेठ की मादा बाघ को पकड़ने वन विभाग सफल

0
818

ताडोबा-अंधारी बाघ परियोजना के तहत मोहर्ली (प्रा) क्षेत्र के मुधोली क्षेत्र के कोंडेगांव क्षेत्र में पिछले तीन-चार माह से बाघ ने धूम मचाया था। इस क्षेत्र के दो चरवाहों पर एक बाघ ने हमला कर उन्हें घायल कर दिया था। साथ ही खेत के पास बकरियों और मवेशियों को चराई के दौरान बाघ ने हमला कर उन्हें मार गिराया ।
कुछ दिन पहले, सीतारामपेठ के एक चरवाहे नमू धांडे पर  बाघ ने हमला कर उसे मार गिराया। जबकि घटना अभी ताजा ही थी, एक दिन पहले कोंडेगांव के पास T24-C2 बाघ द्वारा एक गाय को मार गिराया था। लगातार हो रहे बाघों के हमले से गांव में दहशत का माहौल है।

वनविभाग ने आज 12 फरवरी 2022  दोपहर  3.00 बजे से रेस्क्यू ओपेरशन सुरू किया गया और शाम 5.30 के करीब बाघ को डार्ट कर बेहोश कर दिया गया। बाघ को फिलहाल चंद्रपुर के ट्रांजिट ट्रीटमेंट सेंटर में रखा गया है।
गिरफ्तार मादा बाघ करीब 22 महीने की है और हाल ही में अपनी मां सोनम वाघिनी से अलग हुई थी।
सदर रेस्क्यू ऑपरेशन क्षेत्र निदेशक डॉ.  जितेंद्र रामगांवकर और उपनिदेशक (बफर) जी. गुरुप्रसाद के मार्गदर्शन में पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ. पोडचलवार, वनपरिक्षेत्र अधिकारी आर.जी. मून, क्षेत्र सहायक मोहर्ली ए. डी .मल्लेलवार, वनरक्षक एस. ए. मंगाम, व्ही.के. जनबंधु, आर.आर. टी. मुख्य  मराठे, पी.आर.  टी. मुख्य विकास तुमराम, एस. टी.पी.एफ. चंद्रपुर व अन्य फील्ड स्टाफ ने परिश्रम किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here