ताडोबा अंधारी व्याघ्र प्रकल्प: ऑनलाइन बुकिंग में टेक्निकल त्रुटि के कारण पर्यटकों को हुई परेशानी

0
200

( ऐसें समय ऑफ लाइन बुकिंग प्रणाली में उपलब्ध किया जाने की सैलानियो की मांग)

चंद्रपूर (मोहम्मद सुलेमान बेग):

विश्व प्रसिद्ध ताडोबा अंधारी व्याघ्र प्रकल्प में जंगल सफारी की बुकिंग करने के लिए क्रूजर गाड़ी की ऑनलाइन बुकिंग के लिए क्षेत्रीय प्रबंधक कार्यालय चंद्रपूर में सफारी की बुकिंग करने वाले सैलानी सुबह से ही पंजीकृत होते हैं। लगातार तीन दिन की छुट्टी के कारण, आज दिनांक 11तारीख सोमवार से 14 मार्च  से 17 मार्च तक क्रूजर गाड़ी की ऑनलाइन बुकिंग करने वाले सैलानियो को 17 मार्च की बुकिंग करते समय अचानक बुकिंग सिस्टम में तकनीकी त्रुटि के कारण बुकिंग शुल्क कट गया, लेकिन सफारी का टिकट बुक नहीं हुआ था। इसके बाद लगभग 4:00 बजे के आसपास बुकिंग शुरू हुई और जल्द ही 17 तारीख की बुकिंग पूरी हो गई।  सैलानियो ने कस्टमर केयर के साथ संपर्क करने पर, उन्होंने बताया कि सफारी बुकिंग कटे हुए शुल्क 24 घंटे के भीतर  वापस मिलेगा, लेकिन उसके बाद सफारी बुकिंग के पैसे वापस  आना सुरू हुए।और उसके बाद जल्द ही 17 तारीख की बुकिंग खत्म हो गई । क्या ऑनलाइन बुकिंग में कोई गड़बड़ तो हो नहीं रहा? सुबह से ही सफारी की बुकिंग करने वाले सैलानियो को तीन घंटे तक परेशानी का सामना करना पड़ा।


ऐसें में वनविभाग ऑफलाइन बुकिंग प्रणाली की व्यवस्था क्यों नहीं करती। पहले भी ऑनलाइन बुकिंग में करोड़ों रुपये का नुकसान वनविभाग को हुआ है। ऐसें मे ताडोबा प्रशासन ने ध्यान देने की जरूर है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here