TATR के पर्यटन मे आनेवाले सत्र मे महिलाए भी होगी वाहन चालक

0
221

चंद्रपूर  (मोहम्मद सुलेमान बेग) : ताडोबा अंधारी व्याघ्र परियोजना के आगामी पर्यटन सत्र में वाहनों का सार्थकता महिलाओं के लिए होने की संभावना । पहले से, ताडोबा प्रशासन ने महिला पर्यटक मार्गदर्शक की नियुक्ति करके महाराष्ट्र में पहला स्थान प्राप्त हुआ।  ताडोबा अंधारी व्याघ्र परियोजना एकमात्र पार्क है जहां महिला पर्यटक मार्गदर्शक की शुरुआत हुई । जिसके चलते ताडोबा मे महिलाओं को काम करने का अवसर मिला है।

आनेवाले सत्र में, ताडोबा प्रशासन द्वारा ‘भरारी’ योजना के तहत ताडोबा के बफर क्षेत्र एवं  कोर क्षेत्र से लगे खुटवंडा, घोसरी, सितारामपेठ, कोलारा, सातारा, ब्राह्मणगाव, भामडेली, कोंडेगाव एवं मोहर्ली गांवों के 18 से 35 वर्ष की युवतियों और विविहित महिलाओं के लिए चारचाकी वाहन चालक प्रशिक्षण देने की शुरुआत 25 जून 2023 को ताडोबा परिसर के खुटवंडा गांव से सुरू की गई है।


इस ‘भरारी’ अभियान के माध्यम से हम महिलाओं को चारचाकी वाहन सीखने का अवसर मिलेगा और साथ ही ताडोबा में वाहन चालक के रूप में काम करने का अवसर मिलेगा यह हमारे लिए खुशी की बात है। साथ ही हमे रिसॉर्ट और सरकारी नौकरियों में काम करने का अवसर सकता है ऐसा मोहर्ली निवासी  सौ.माधुरी कुमारे ने वन समाचार के  संवाददाता के सामने व्यक्त किया।  साथ ही माधुरीने महिलाओं को काम करने का अवसर देने के लिए ताडोबा प्रशासन को धन्यवाद माना।

इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में ताडोबा अंधारी व्याघ्र परियोजना के क्षेत्र संचालक डॉ. जितेंद्र रामगांवकर के मार्गदर्शन में ताडोबा कोरचे क्षेत्र सहाय्यक महेश खोरे, मोहर्ली वनपरिक्षेत्र के अधिकारी अरुण गोंड, खुटवंडा EDC के अध्यक्ष, ताडोबा फाउंडेशन के एजुकेशन ऑफिसर एवं उपजीविका तंज्ञ प्रफुल सावरकर, ड्राईविंग स्कूल के प्रतिनिधी, खुटवंडा गेट के पर्यटक मार्गदर्शक और साथ ही बड़ी संख्या में युवतियाँ और विवाहित महिलाएं उपस्थित थीं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here