जंगली सूअर के शिकार के मामले में, वन विभाग ने पाँच आरोपीयो को  हिरासत में लिया

0
443

आलापल्ली : (रामु मादेशी )

04/02/2021 को प्राप्त गोपनीय सूचना के आधार पर, अलापल्ली वन विभाग के अंतर्गत वन क्षेत्र में जंगली सूअर के शिकार की सूचना मिलने के बाद, बनय्या बुचय्या जंगिड़वार रहने वाला महाबाव (खुर्द)  के घर का निरीक्षण किया, लगभग 2 किलो सूअर का मांस उनके घर में पाया गया। उन्होंने कहा कि सतीश मोडी दिगुटलावार, मल्लेश नारायण पानेम इनके पाससे सूअर का मांस लाया गयौ।
आज दिनांक ०५/०२/२०२१ को दादाराव वसंत सिडाम  और वनेश भन्ना पंधारम इनके घर पर पूछताछ की गई, तो खेत में पासा डालकर जंगली सूअर का अवैध शिकार करने की बात कबूल की।  जंगली सूअर के वध के लिए इस्तेमाल 2 नग छुरी, कुल्हाड़ी 1 नग, फासे 2 नग और  2 किग्रा मांस  हिरासत में लिया गया। सभी पांचों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है और उनके खिलाफ भारतीय वन्यजीव निवारण अधिनियम, 1972 की धारा 10 के तहत वन अपराध संख्या 10 के तहत आगे की कार्रवाई की जा रही है।

आलापल्ली वन विभाग सी. आर. ताम्बे उपवंसरक्षक अलापल्ली, वन विभाग अलापल्ली और एन. एस.  देवगड़े उप-प्रभागीय वन अधिकारी के मार्गदर्शन में, अलापल्ली वन विभाग, अलापल्ली, सी.वाई.  तोम्बर्लावार वन परिक्षेत्र अधिकारी अहेरी एस.एम. पडालवार, क्षेत्र सहायक खमनचेरु, डी. एस.  गजभे, एस. एम. धात्रक, बी.जी.  कोसनकर, डी. एस.  हलामी, वी. बी. आत्राम, पी.एम.  नंदगिरवार, एच. जी.कुमरे, ए. जे. उप्पल, डी.डी.  मलगाम, पी.एस. वेल्दी, आर.एन.  मडावी, कु.एस. के.  हनवते, सौ.आर.एस. माडवी ने सपड़ा रचुन ऑपरेशन को सफलता पूर्वक अंजाम दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here