ताडोबा अंधारी टाइगर रिजर्व में  शराब पीने वाले सैलानीयों पर कठोर कारवाही : 25000 रुपये का  लगाया जुर्माना

0
515

मोहम्मद सुलेमान बेग :

विश्व प्रसिद्ध ताडोबा अंधारी टाइगर रिजर्व में आनेवाले सैलानियों मे से एक जिप्सी सैलानियो ने आज 14 फरवरी  को सुबह की सफारी  के लिए मोहर्ली प्रवेश द्वार से  जंगल सफारी के दौरान जिप्सी में शराब पीते हुए गाइड ने देखा। सैलानियो ने गाईड को बाघ दिखाने के लिए पहले ही 5000 रु. दिया था तो उन्हे लगा की अब वह कुछ भी करेंगे तो गाईड कुछ बोलेगा लेकिन गाईड ने जिप्सी मे शराब पीने को मना किया और यह गैर कानूनी है जब सैलानी गाइड का नहीं सुना तो गाइड ने जिप्सी को तत्काल मोहर्ली गेट पर वापस ले आया और उनकी शिकायत मोहर्ली ऑफिस में की। इसके बाद, ताडोबा अंधारी व्याघ्र प्रकल्प (कोर) के उपसंचालक नंदकिशोर काले को जानकारी मिलते ही उन्होने जंगल मे शराब पीने वाले 5 सैलानीयो से प्रत्येकी 5000 रुपये के हिसाब से कुल 25000 रुपये का जुर्माना लिया।
कहा जाता है कि पहले भी एक बार कॅन्टर बस से सफारी करते समय 10 सैलानियो का एक समूह शराब पीते मिला था उन पर 50000 रुपये का जुर्माना लिया गया था। ताडोबा में हमेशा से सभी नियमों का पालन किया जाता है और इसके लिए ताडोबा के सभी गाइड भी बहोत सतर्क रहते हैं।
ऐसें मे ताडोबा मे मोबाईल बंद होने से इस तरह के हादसो  पर पर्दा पडा रहता है। कभी कभी वह अपने बयान से पलट जाते है और गाईड को ही दोष देते है। ऐसें मे ताडोबा प्रशासन ने सफारी मे मोबाईल का इस्तमाल करने का परमिशन दिया जाना चाहीये। ताकी ऐसें क्राईम करने वाले सैलानीयो चित्रित कर सके। इस तरह के गंभीर विषय पर ध्यान देते हुए ताडोबा मे सफारी के वक्त मोबाईल का इस्तमाल सुरू करना अनिवार्य है। और बहोत से सैलानी  कॅमेरा किराए से लेते है पर ऑपरेट करते नही आने से सभी फोटो खराब निकलते है। ऐसा कुछ वन्यजीव प्रेमी ने ताडोबा मे वन समाचार के प्रतिनिधी से कहा ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here