2 तेंदुए का शव खेत के कुएं में पाए गए, जहर से मरने का संदेह

0
489

भंडारा वन प्रभाग के अद्याल वन परिक्षेत्र के एक खेत के कुएं में दो वयस्क नर तेंदुए मृत सोमवार 15 फरवरी की सुबह पाए गए । शवों पर पोस्टमार्टम करने वाले पशु चिकित्सकों को संदेह है कि जानवरों को जहर दिया गया था और उन्हें कुएं में फेंक दिया गया था।

भंडारा और गोंदिया जिलों में तेंदुए और बाघों के अवैध शिकार के मामलों में तेजी है। जनवरी महिने में गोंदिया के गोरेगांव वन रेंज में उनके शरीर के अंगों के साथ दो तेंदुए मृत पाए गए थे। उससे पहले पिछले साल भी गोंदिया के चुटिया गांव में एक बाघ का शिकार हुआ था।

भंडारा के डिप्टी कंजरवेटर ऑफ फॉरेस्ट (DyCF) एस.बी. भलावी के अनुसार, पूर्व सरपंच मोहन घोगरे ने तेंदुए को कालवाड़ा में कुएं में मृतावस्था में तैरते हुए पाया गया। खेत एक झील के पास संरक्षित जंगल से 600 मीटर की दूरी पर है।

पशुचिकित्सा डॉ. गुनवंत भड़के ने कहा, ” हमें दुर्घटना या बिजली गिरने का कोई संकेत नहीं मिला। जानवरों के आंतरिक अंगों में परिवर्तन विषाक्तता की ओर इशारा करता है। जानवरों में से प्रत्येक के 5 नाखून भी गायब हैं। इन दो तेंदुओं में से एक की उम्र 5 साल और दूसरे की 8 साल थी।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here