विमलादेवी आयुर्वेदिक मेडिकल कॉलेज और आत्मनिर्भर भारत चंद्रपुर द्वारा नाम. सुधीरभाऊ मुनगंटीवार की वृक्ष तुला कर सम्मानित किया गया

0
143

चंद्रपूर : विमलादेवी आयुर्वेदिक मेडिकल कॉलेज की ओर से आयोजित रक्तदान शिबिर का रिबीन काटके नाम. सुधीरभाऊ मुनगंटीवार हस्ते उद्घाटन किया गया।

इस अवसर पर कॉलेज के छात्राओं रक्तदान किया। उसके बाद नाम. सुधीरभाऊ मुनगंटीवार की रॅली जीप से कॉलेज के गेट पर लाया गया और उनके सामने कॉलेज की छात्राओं ने  महाराष्ट्रीयन पोशाक में वेशभूषा कर जीप के आगे घुड़सवार, पंढरी के वारकरी विट्ठल की मूर्ति ले जाने दृश्य का मंचन किया।


विमलादेवी आयुर्वेदिक मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य ने नाम. सुधीरभाऊ को उनके परिवार की एक तस्वीर और आत्मनिर्भर भारत की ओर से  नाम. सुधीरभाऊ की बांस पर उभरी पेंटिंग उपहार के रूप में दी गई।
और एक अनोखे तारीखे से आयुर्वेदीक वृक्ष के पौधों के साथ नाम.सुधीरभाऊ की तुला की गई और साथ ही हाल ही में हुए नाम. सुधीरभाऊ के जन्मदिन के अवसर पर एक बड़ा केक काटा गया और गाने से स्वागत किया गया।
इस मौके पर आत्मनिर्भर भारत जिलाध्यक्ष किरनताई बुटले ने नाम.सुधीरभाऊ के नेतृत्व में सैकड़ों कार्यकर्ता भाजपा में शामिल हुए।


साथ ही नाम सुधीरभाऊ मुनगंटीवार ने वन समाचार द्वारा श्वेता रॉय की पुस्तिका ‘शील्ड ऑफ नेचर’ का अनावरण किया गया।
नाम. सुधीरभाऊ १४ अगस्त २०२२ को मंत्री के रूप में शपथ लेने के बाद, सुधीर भाऊ ने टेलीफोन और मोबाइल फोन पर बात करते हुए हॅलो कहने के बजाय वंदे मातरम कहकर शुरुआत करने का फैसला किया।
वंदे मातरम यह घोषणा से राष्ट्रप्रेम निर्माण होता है ऐसा नाम.सुधीरभाऊ ने विमलादेवी आयुर्वेदिक कॉलेज में हुए सत्कार के वक्त कहां।
महाराष्ट्र राज्य के वने, सांस्कृतिक कार्य और मत्स्य पालन मंत्री  की नियुक्ति होने के अवसर पर विमलादेवी आयुर्वेदिक कॉलेज और आत्मनिर्भर भारत चंद्रपुर द्वारा नाम.सुधीरभाऊ मुनगंटीवार का सम्मानित किया गया।

इस अवसर पर FDCM माजी अध्यक्ष चंदेलसिंह चंदेल, देवराव भोंगले, राहुल पावड़े, रामपाल सिंह, संजय यादव,  आरोग्य भारती के  संदेश गोजें उपाध्यक्ष व कार्यकर्ता उपस्थित थे।

विमलादेवी आयुर्वेदिक मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य इंद्रसेन सिंह, सौ.अंकिता पांडे (सिह), राहुल सिंह,  डॉ अखिलेश देशमुख डॉ. संदेश गोजें, डॉ. राजू आर. तातेवार, सभी प्रोफेसर और छात्र बड़ी संख्या में उपस्थित थे।

साथ ही आत्मनिर्भर भारत के जिला महासचिव श्रीकांत देशमुख, रणजित डावरे, महेश जुमनाके, प्रशांत कोपूला, उपाध्यक्ष सुलेमान बेग, अभय रॉय, राहुल स्वामी,अमर शर्मा, अनुप भगत,अन्नपूर्णा बावनकर, हिना खान व सभी कार्यकर्ता बड़ी संख्या में उपस्थित थे।

कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए विमलादेवी आयुर्वेदिक मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य इंद्रसेन सिंह, सौ.अंकिता पांडे (सिह ), राहुल सिंह,  प्राध्यापकों, छात्रों के साथ आत्मनिर्भर भारत किरनताई बुटले व पदाधिकारियों ने कड़ी मेहनत की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here