तलोधी के बाघ को पकड़ने वनविभाग की टीम तैनात ; मृतक के आश्रितों को दिये 10-10 लाख के धनादेश

0
135

जिल्हा प्रतिनिधी (यश कायरकर):

दो दिन पूर्व ब्रम्हपुरी वनविभाग अंतर्गत आने वाले तलोधी बालापुर वनपरिक्षेत्र अंतर्गत गंगासागर हेटी नियत क्षेत्र, के उश्रालामेंढा रिट, गट क्रं. 2 संरक्षित वनक्षेत्र परिसर के खेत में काम कर रही आकापुर निवासी देवता जीवन चनफने (42) नामक महिला बाघ के हमले में मारी गई थी। इस घटना के बाद बाघ को पकडने  वनविभाग ने कदम उठाए हैं।
आज 14 जुलाई 2023 को देवता चनफने और चिमूर तहसील के सावरगांव (नेरी) निवासी किसान  ईश्वर गोविंदा कुंभारे के परिजनों को आज 10-10 लाख का चेक वन विभाग द्वारा चिमूर के विधायक बंटी भांगडिया के हाथों सौंपने की जानकारी सिंदेवाही वनपरिक्षेत्र अधिकारी विशाल सालकर ने दी है।


उक्त घटना के बाद ग्रामीणों द्वारा बाघ को पकडने की मांग उठने पर वनविभाग ने  शूटर, डाक्टर के साथ आर .आर. यू. टीम को तैनात किया है। लेकिन अभी तक टीम को सफलता नहीं मिली है।
जानकारों के अनुसार सावरगांव, सावर्ला, वाढोणा आदि गांव के पास की अधिकांश जमीन अतिक्रमित है, झुडपी संरक्षीत जंगल की है। खेत की जमीन जंगल में सटी होने की वजह से जंगली जानवर अक्सर दिखाई देते है। जो बाघ कैमरे में दिखाई दिया वह इस परिसर का नहीं है संभावना है कि वह ताडोबा अंधारी व्याघ्र प्रकल्प में जगह नहीं बना सका इसलिए गांव के आस पास घुम रहा है।
ग्रामीणों के अनुसार पिछले तीन महीने से परिसर में बाघ दिखाई दे रहा है। इसलिए वनविभाग को निवेदन देकर रास्ते से सटी झाडीया काटने की, और बाघ के बंदोबस्त की मांग की थी। किंतु इस गंभीर विषय की ओर ध्यान नहीं दे रहे थे। मगर बुधवार की घटना के बाद अब वनविभाग ने पहल कर शूटरों के साथ टीम को तैनात किया है।
तलोधी के अतिरिक्त कार्यभार संभाले वनपरिक्षेत्र अधिकारी विशाल सालकर ने बताया कि घटनास्थल पर पशु वैद्यकीय अधिकारी, शूटर, रैपिड रिस्पांस टीम, वनविभाग की टीम बाघ को टैंकूलाईज करने में जुटी है। घटना स्थल को पूरी तरह से कैमरे की निगरानी में है किंतु अब तक बाघ की हलचल नहीं दिखाई दी है। घटना के अनुसार गांव के लोगों में जनजागृति की जा रही है कि खेतों में काम के लिए अकेले न जाए, झुककर काम करने की बजाय बैठकर काम करें, खेतों में काम करते समय आपस में बातचीत करते रहे। साथ ही गांव के रास्तो के किनारे मे लगी हुई झाडियों को काटकर उनकी सफाई की जा रही है जिससे रास्ते साफ दिखाई दे। घटना को रोकने के लिए वन विभाग की टीम पूरी तरह से सतर्क  दिखाई दे रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here